छोड़कर सामग्री पर जाएँ

फूलों की घाटी में समय की यात्रा


दिन 1: देहरादून से प्रस्थान

आज सुबह मैंने अपने बैग पैक किए और सुबह 9 बजे देहरादून से निकल पड़ा, आगे की यात्रा के लिए उत्साह से भरा हुआ। मेरा पहला पड़ाव ऋषिकेश था, जहाँ की आध्यात्मिक ऊर्जा स्पष्ट महसूस होती है, नदी किनारे मंदिरों की श्रृंखला थी। आगे बढ़ते हुए, मैंने देवप्रयाग पार किया, एक सुंदर नगर जहाँ भागीरथी और अलकनंदा नदियाँ मिलकर गंगा बनाती हैं। पहाड़ी जड़ी-बूटियों से फ्लेवर्ड स्थानीय चाय तरोताजा कर देने वाली थी।


दिन 2: पहाड़ों के बीच जोशीमठ की ओर

आज की यात्रा में मैंने उत्तराखंड के दिल को पार किया। मैंने रुद्रप्रयाग में रुक कर अलकनंदा और मंदाकिनी नदियों के संगम को देखा। रास्ते में लुभावने दृश्य और हरियाली ने मन मोह लिया। शाम तक मैं जोशीमठ पहुँच गया था, जो तीर्थयात्रियों और ट्रेकर्स के लिए एक शांतिपूर्ण नगर है। स्थानीय भोजन, विशेषकर गढ़वाली दाल, सादी लेकिन स्वादिष्ट थी।


दिन 3: गोविंदघाट और घांघरिया तक ट्रेक

जोशीमठ में भरपेट नाश्ते के बाद, मैंने गोविंदघाट की ओर प्रस्थान किया, जो फूलों की घाटी तक ट्रेक का आरंभिक बिंदु है। घांघरिया तक का ट्रेक कठिन था लेकिन रास्ते में छोटे-छोटे खाने की जगहों पर गर्म मैगी और मीठी चाय ने इसे सरल बना दिया। घांघरिया, एक छोटी बस्ती जो पहाड़ों में बसी है, वहाँ मैंने रात का पड़ाव डाला। पास के झरनों की आवाज़ ने मुझे सुला दिया।


दिन 4: फूलों की घाटी की खोज

मैंने फूलों की घाटी में जल्दी प्रवेश किया। घाटी में प्रवेश करते ही यह विभिन्न प्रकार के फूलों की चमकदार चादर की तरह खुल गई —ब्रह्मकमल, नीले खसखस, और एडेलवाइस ने परिदृश्य को सजाया। हवा ताजगी से भरी थी, जंगली फूलों की खुशबू से। मैंने घंटों एक नदी के किनारे बैठकर हिमालयी नीली भेड़ को चरते हुए देखा। इतने जीवंत और सजीव वातावरण में होना एक अद्भुत अनुभव था।


दिन 5: देहरादून वापसी

आज, मैंने गोविंदघाट वापस ट्रेक किया। हालांकि रास्ता ढलान वाला था, यह उतना ही चुनौतीपूर्ण था। वापसी की ड्राइव मुझे गढ़वाल के श्रीनगर से होकर ले गई, जो अपने ऐतिहासिक महत्व और चहल-पहल वाले बाजारों के लिए प्रसिद्ध है। मैं रात के समय देहरादून पहुँचा, थका हुआ लेकिन अनुभवों से समृद्ध। पहाड़ों की शांति और शहर की हलचल में गहरा अंतर महसूस हुआ।


मेरी यात्रा पर प्रतिबिंबित करते हुए, हर कदम एक नई खोज लेकर आया—गांवों द्वारा सुनाई गई कहानियाँ, पहाड़ों के माध्यम से नदियों के प्रवाह, और जीवन और रंग से भरे परिदृश्यों का वनस्पति और जीव। मैं पहले से ही वापस जाने के लिए तरस रहा हूँ, उस शांति के सपने देख रहा हूँ जो आपको ऐसी अछूती सुंदरता से घिरे होने पर मिलती है। मेरा दिल भरा हुआ है, और मेरी आत्मा शांत है।


Valley of Flower
hi_INहिन्दी
Verified by MonsterInsights